Good Touch Bad Touch | गुड टच बैड टच

Good Touch Bad Touch गुड टच बैड टच

आज हम 21वीं सदी में हैं हमारा समाज निरंतर प्रगतिशील है और आज हम विकासशील से विकसित की ओर बढ़ रहे , लेकिन आज भी ऐसे ही कुछ समाज की कुरीतियां कृत्य और नकारात्मक घटनाएं घटती रहती हैं । जिससे हम अपने भविष्य और वर्तमान को लेकर एक संघर्ष की अनुभूति करते हैं। समाज में आज बाल यौन शोषण जैसी घटनाएं बढ़ती जा रही है और सबसे प्रमुख समस्या यह है कि यौन शोषण जैसे अति संवेदनशील मुद्दों पर बात हमारे समाज में आज भी खुलकर नहीं हो रही है। जिससे ऐसी घटनाओं का बढ़ना और ऐसी घटनाओं को करने वालों को बढ़ावा स्वता ही मिलता जा रहा है । कहीं अगर कोई कानूनी अधिकार का इस्तेमाल करके ऐसी घटनाओं के खिलाफ शिकायत भी करता है तो हमारे समाज और कानून की लचर व्यवस्था ऐसी है की न्याय मिलते मिलते 20 से 25 साल भी हो जाते हैं और कभी-कभी तो जो विक्टिम होता है उसकी मृत्यु तक हो जाती हैं लेकिन उसे न्याय नहीं मिलता।

अब समय यह है कि ऐसी घटनाओं को हम कैसे रोके हमें एक खुले मंच से या विचार और ऐसे सामाजिक कुरीतियों या बाल शोषण जैसे मुद्दों पर अब बात करना ही पड़ेगा और यह जिम्मेदारी सबसे पहले हमारे घर के माता-पिता व उसके बाद अगर यह सबसे प्रमुख जिम्मेदारी है कि समाज से ऐसी कुरीतियों एवं शोषण जैसे अपराधों को समाप्त किया जा सके तो इस लड़ाई का सबसे प्रमुख हिस्सा वह हमारे अध्यापक है। यानी कि अब यह लड़ाई की तैयारी हमारे घर और हमारे स्कूल से ही प्रारंभ हो जानी चाहिए।

अब समझते हैं कि बाल यौन शोषण मुद्दा कितना गंभीर हो सकता है और ऐसे मुद्दों से हमें किस प्रकार की तैयारी करनी चाहिए ताकि भविष्य में हमारे अपने बच्चों के साथ या समाज के किसी अन्य बच्चे के साथ ऐसी दुर्घटनाएं ना हो सके।

Good Touch and Bad Touch:

हमारा समाज विकसित हो रहा है इसके साथ ही में मनुष्य की आपराधिक भावना भी बढ़ रही है. मानव को पिछले युग में कई बदलाव देखने को मिले है. कुछ समय पहले आपराधिक दिमाग वाले लोग समाज की वस्तुओं को निशाना बनाते थे, लेकिन हाल के वर्षों में ये छोटे बच्चों और शिशुओं को निशाना बनाने लगे हैं. मानवता पशुता में ढ़लती जा रही है. छोटे बच्चों और शिशुओं को वो लोग निशाना बनाने लगे हैं. जो अपने यौन आकर्षण के लिए इनका गलत इस्तेमाल करते हैं क्योंकि इन्हें मालूम है कि कम उम्र के बच्चे कमजोर व नासमझ होते हैं और दूसरों से जल्दी घुल-मिल जाते हैं व दूसरों पर जल्दी विश्वास भी कर लेते हैं. इस तरह के ज्यादातर अपराधी घर में से ही या आस-पड़ोस या जान पहचान वाले ही होते हैं. कई बार बच्चों को स्कूल कर्मचारी के साथ स्कूल ले जाने वाले ट्रांसपोर्ट के लोग भी ऐसे अपराध करते हैं.
बच्चों के प्रति बढ़ते अपराध का मुख्य कारण बच्चों में जागरूकता की कमी होती हैं. माता–पिता अपना कर्तव्य केवल अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा, खाना-पीना, कपड़े पहनना, बड़ों का सम्मान करना और अच्छे संस्कार देने तक सीमित मानते हैं. लेकिन वर्तमान समय में बच्चों को यौन शिक्षा देने के साथ ही उन्हें Good Touch and Bad Touch के बारे में बताना भी एक जरुरी विषय है. माता-पिता अपने बच्चों को Good Touch and Bad Touch के बारे में बताना कम जरूरी समझते हैं और संकोच भी करते हैं, जिसके कारण बच्चे यौन शोषण के शिकार होते हैं।

बैड टच- जब कोई आपको इस तरह से टच करे कि आपको उससे बुरा लगे या आप सहज महसूस कर रहे हैं तो ये बैड टच हो सकता है. साथ ही अगर कोई अनजान व्यक्ति आपके प्राइवेट पार्ट्स या कई अन्य जगह आपको गलत तरीके से छूने की कोशिश करे तो यह बैड टच होता है. वहीं अगर कोई आपके साथ गलत हरकत करे और बोले कि किसी को बताना मत, तो ये बैड टच होता है.

गुड टच– अगर कोई आपको टच करे और उससे आपको अच्छा लगे तो ये गुड टच होता है. कोई आपको प्यार करने के लिए मदद करने के लिए आपको टच करता है तो आप इसे गुड टच कहेंगे।

आप अपने बच्चों को अच्छे स्पर्श और बुरे स्पर्श के बारे में कैसे सिखा सकते हैं?

नीचे दिए गए सात सुझाव दिए गए हैं कि आप अपने बच्चे को इस विषय के बारे में कैसे सिखा सकते हैं।

आपका शरीर आपका निजी है:-अपने बच्चों को बताएं कि केवल वे उनके शरीर के मालिक हैं, कोई और नहीं । अपने बच्चे को सिखाएं कि किसी को उन्हें छूने का अधिकार नहीं है अगर वे नहीं चाहते हैं। उन्हें बताएं कि उनके शरीर के कुछ हिस्से निजी हैं। दो वर्ष से कम उम्र के बच्चे समझते हैं कि शरीर के कुछ अंग निजी हैं। केवल मम्मी और पापा ही उन्हें नहाते या साफ करते समय छू सकते हैं। कोई और उन्हें छू नहीं सकता, अगर वे स्पर्श नहीं करना चाहते हैं।
स्विमिंग सूट का उदाहरण दें: अपने बच्चे को समझाएं कि उसके शरीर के हिस्से जो कि स्विमिंग सूट से ढके हैं, वे बेहद निजी हैं। इसलिए, किसी को भी कभी भी उसे वहां नहीं छूना चाहिए। इसके बावजूद, अगर ऐसा होता है, तो उसे आपको या स्कूल शिक्षक को इसकी सूचना देनी चाहिए ताकि कार्रवाई की जाए।
उन्हें सिखाएं ना कहना: अपने बच्चों अपने बच्चों को सिखाएं कि वह किसी को भी ना कह सकते हैं अगर कोई व्यक्ति उन्हें अनजान या गलत तरीके से यह उनका हक है कि वह उस व्यक्ति को ना कहें।
उनसे सहज और आसान तरीके से बात करें : जबकि यह एक गंभीर विषय है, बातचीत को आकस्मिक रखने की कोशिश करें, ताकि बच्चा इसके बारे में बात करने में सहज हो। विषय को पेश करने के लिए रोजमर्रा की घटनाओं का उपयोग करें। उदाहरण के लिए, जब आप डिनर कर रहे हों, या अपने बच्चे को नहला रहे हों, तो इस विषय को पेश करें।
उन्हें अच्छे स्पर्श और बुरे स्पर्श के बारे में बताएं: अपने बच्चे को समझाएँ कि एक अच्छा स्पर्श उन्हें कभी असहज या भयभीत नहीं करेगा बल्कि एक बुरा स्पर्श देगा। अगर कोई उन्हें अनुचित तरीके से छूने की कोशिश करता है या अगर उन्हें डर लगता है या असुरक्षित महसूस होता है, तो उन्हें भागने के लिए सिखाएं।
समझाने के लिए पुस्तकों या वीडियो का उपयोग करें : अब इस विषय पर कई अच्छी किताबें और वीडियो उपलब्ध हैं। पुस्तकों में अच्छे चित्रण होते हैं, जो समझाने और समझने में आसान बनाते हैं। इस विषय पर वीडियो YouTube पर भी स्वतंत्र रूप से उपलब्ध हैं। अपने बच्चे को बहुत सरल और आसान तरीके से चीजों को समझाने के लिए इन संसाधनों का उपयोग करें।
उन्हें भागना सिखाएं : यदि किसी बच्चे को किसी के द्वारा खतरा महसूस होता है, तो उन्हें उस स्थान से जल्द से जल्द भाग जाना चाहिए और वे फिर से उस व्यक्ति के पास न होने का प्रयास करें। उन्हें यह भी सिखाएं कि अपने माता-पिता या शिक्षकों में विश्वास करना या मदद के लिए चीखना ठीक है।

निम्नलिखित संकेतों की तलाश करें:

  • क्या कोई व्यक्ति आपके बच्चे की गोपनीयता पर हमला कर रहा है? क्या वह व्यक्ति केवल तभी घर आता है जब बच्चा आसपास होता है?
  • क्या कोई जबरन गले लगा रहा है या बच्चे को गला घोंट रहा है, हालांकि बाद वाला विरोध कर सकता है?
  • क्या कोई वयस्कों की तुलना में बच्चों के साथ अधिक समय बिता रहा है?
  • क्या कोई उन्हें महंगे उपहार खरीदकर बच्चों के करीब लाने की कोशिश कर रहा है?
  • क्या आपका बच्चा किसी के साथ कहीं भी असहज महसूस कर रहा है?
  • यदि आपको कुछ संदेह है, तो बच्चे को उस वातावरण या व्यक्ति से तुरंत हटा दें। इसके अलावा, हमेशा अपने बच्चे से पूछें कि उनका दिन कैसा गुजरा। उन्हें आप में विश्वास करने में सक्षम होना चाहिए। उन्हें आश्वासन दें कि आप उनकी बात सुनेंगे चाहे कुछ भी हो। आपका बच्चा आप पर भरोसा करने और आपके साथ कुछ भी साझा करने में सक्षम होना चाहिए।

निष्कर्ष

अगर मैं किसी को चूमना गले लगाना या हाथ मिलाना नहीं चाहती तो मैं ना कहूंगी

अगर कोई मुझे गलत तरीके से छूना हाथ लगाना या bad touch चाहता है तो मैं ना कहूंगी

ये मेरा शरीर है मैं अपने शरीर की मालिक हूं । जो मैं नहीं करना चाहती वह मुझसे कोई जबरन नहीं करा सकता

मैं ना कहूंगा / कहूंगी

मेरे निजी अंग या गुप्तांग वह है जो मेरे नहाने वाले कपड़ों स्विमिंग सूट के नीचे छुपे होते हैं।

उन्हें छूने का हक किसी को नहीं । कोई मुझे दूसरे का भी निजी अंग छूने के लिए नहीं कह सकता।

मेरे निजी अंगों की कोई तस्वीर भी नहीं ले सकता।

अगर इनमें से कोई भी बात होती है तो मैं तुरंत अपने सुरक्षा कवच के लोगों को बता दूंगी।

शरीर के निजी खास अंग

यह चार लोग हैं जिन पर मैं भरोसा करती हूं मम्मी पापा दादा दादी । यह लोग मेरे सुरक्षा के लिए हैं यह मेरे सुरक्षा कवच है।

अगर डर लगे या कोई मुश्किल हो या कुछ समझ ना आ रहा हो तो मैं इनसे बात करूंगी । यह लोग मेरी मदद करेंगे।

मेरे सुरक्षा कवच के लोग

मैं अपने परिवार से कोई बात नहीं छुपाती।

मैं ऐसी कोई बात नहीं छुपाती जिससे मुझे बुरा या असहज महसूस हो।

अगर कोई मुझे कोई ऐसा राज छुपाकर रखने को कहता है जिससे मैं बुरा या असहज महसूस करूं , तो मैं अपने सुरक्षा कवच के लोगों से बात करूंगी और मदद लूंगी।

राज की बात

सभी माता-पिता चाहते हैं कि उनके बच्चे हर समय सुरक्षित और ठीक रहें। चूंकि माता-पिता अपने बच्चों से हमेशा अच्छे लोगों से घिरे रहने की उम्मीद नहीं कर सकते हैं, इसलिए यह माता-पिता की ज़िम्मेदारी है कि वे ऐसी परिस्थितियों से निपटने के लिए तैयार रहें तथा अपने बच्चों को भी तैयार व प्रशिक्षित करें।

Good touch vs bad touch

good touch bad touch for kids
good touch bad touch poster
good touch bad touch images
good touch bad touch in Hindi good touch bad touch PPT
good touch bad touch poem in Hindi
good touch bad touch in Hindi PDF
good touch bad touch points

good touch bad touch for kids
good touch bad touch poster
good touch bad touch images
good touch bad touch in Hindi good touch bad touch PPT
good touch bad touch poem in Hindi
good touch bad touch in Hindi PDF
good touch bad touch points good touch bad touch chart good touch bad touch PPT

good touch bad touch for kids
good touch bad touch poster
good touch bad touch images
good touch bad touch in Hindi good touch bad touch PPT
good touch bad touch poem in Hindi
good touch bad touch in Hindi PDF
good touch bad touch points good touch bad touch chart good touch bad touch PPT

good touch bad touch chart

good touch bad touch PPT

Spread the love

Leave a Reply