You are currently viewing E PATHSHALA PHASE 6  | ई-पाठशाला फेज 6

E PATHSHALA PHASE 6 | ई-पाठशाला फेज 6

डिजिटल इंडिया अभियान ने शिक्षण सीखने की प्रक्रिया में आईसीटी के व्यापक उपयोग को बढ़ावा दिया है। ई-पाठशाला (E PATHSHALA PHASE 6 | ई-पाठशाला फेज 6), शिक्षा मंत्रालय, भारत सरकार व राज्य सरकार की एक संयुक्त पहल है। भारत सरकार और राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद (एनसीईआरटी) को छात्रों, शिक्षकों के लिए पाठ्यपुस्तकों, ऑडियो, वीडियो, पत्रिकाओं, और कई अन्य प्रिंट और गैर-प्रिंट सामग्री सहित सभी शैक्षिक ई-संसाधनों को प्रदर्शित और प्रसारित करने के लिए विकसित किया गया है।

बेसिक शिक्षा विभाग द्वारा अप्रैल 2020 से ही मिशन प्रेरणा की ई-पाठशाला (Mission Prerna e-pathshala phase 1, 2, 3, 4 and 5) कार्यक्रम संचालित किया जा रहा है | इस कार्यक्रम के माध्यम से पहले,दूसरे, तीसरे ,चौथे व् पांचवे चरण में विभिन्न माध्यमों ( जैसे – आकाशवाणी, दूरदर्शन, WhatsApp , प्रेरणा साथी आदि के द्वारा अभिभावकों / बच्चों तक शैक्षणिक सामग्री पहुचायी गयी| विभाग द्वारा सभी बच्चों तक पहुँच सुनिश्चित करने के लिए मिशन प्रेरणा की ई-पाठशाला 6.0 नयी गतिविधियों के साथ प्रारम्भ किया जा रहा है|

कक्षा 1 से 8 तक शिक्षा प्राप्त कर रहे प्रदेश के सभी छात्र-छात्राओं की सीखने की क्षमता पर कोई प्रतिकूल प्रभाव ना पड़े, इसके लिए बेसिक शिक्षा विभाग द्वारा अप्रैल 2020 से ही “मिशन प्रेरणा की ई-पाठशाला” का संचालन किया जा रहा है | “मिशन प्रेरणा की ई-पाठशाला” के अंतर्गत अब तक 5 चरणों में दूरदर्शन, आकाशवाणी और WhatsApp के माध्यम से अभिभावकों/बच्चों तक शैक्षणिक सामग्री पहुँचाई गई और शिक्षकों द्वारा मोहल्ला कक्षाओं का सफलतापूर्वक संचालन किया गया |

E Pathshala Phase 6 से सम्बंधित गतिविधियाँ शैक्षणिक सामग्री का प्रेषण

(1). ई-पाठशाला के संचालन हेतु राज्य स्तर से कक्षावार एवं विषयवार शैक्षणिक सामग्री व्हाट्सएप ग्रुप के माध्यम से प्रेषित की जायेगी, जिसे शिक्षकों द्वारा प्रेरणा साथी / अभिभावकों के व्हाट्सएप ग्रुप पर साझा किया जायेगा।

(2). प्रत्येक शनिवार को व्हाट्सएप के माध्यम से साप्ताहिक क्विज प्रतियोगिता संबंधी सामग्री प्रेषित की जायेगी।

(3). प्रत्येक शनिवार को व्हाट्सएप के माध्यम से साप्ताहिक क्विज प्रतियोगिता संबंधी सामग्री प्रेषित की जायेगी। राज्य स्तर से प्रेषित शैक्षणिक सामग्री के अतिरिक्त शिक्षकों द्वारा भी विषय पर आधारित शैक्षणिक सामग्री प्रेरणा साथी एवं अभिभावकों के माध्यम से बच्चों को उपलब्ध करायी जाये। साझा की गयी सामग्री पर बच्चों को अभ्यास एवं हल करने के लिए निरन्तर प्रोत्साहित किया जाये।

(4). प्रत्येक शनिवार को व्हाट्सएप के माध्यम से साप्ताहिक क्विज प्रतियोगिता संबंधी सामग्री प्रेषित की जायेगी। प्रेरणा लक्ष्य ऐप, रीड एलांग ऐप और दीक्षा पर उपलब्ध शैक्षणिक सामग्री से प्रेरणा साथी, बच्चों एवं अभिभावकों को जागरूक किया जाये एवं उक्त एप के माध्यम से बच्चों को पढ़ने के लिये प्रेरित किया जाये।

E PATHSHALA PHASE 6 | ई-पाठशाला फेज 6

100 Days Reading Campaign का संचालन

निपुण भारत के अंतर्गत 100 Days Reading Campaign की शुरूआत की गयी है। तत्क्रम में राज्य परियोजना कार्यालय द्वारा इसके लिए विस्तृत दिशानिर्देश प्रेषित किये गये हैं तथा साप्ताहिक रूप से गतिविधियों की सूची इंफोग्राफिक्स आदि प्रेषित किये जा रहे हैं। कोविड महामारी के कारण जब तक बच्चे विद्यालय में नहीं आ रहे हैं, तब तक निम्नवत्‌ आधार पर 100 Days Reading Campaign का संचालन किया जाये :-

(1). प्रत्येक शनिवार को व्हाट्सएप के माध्यम से साप्ताहिक क्विज प्रतियोगिता संबंधी सामग्री प्रेषित की जायेगी। 100 Days Reading Campaign के अंतर्गत गतिविधियों का साप्ताहिक कैलेण्डर तैयार किया गया है, जिसे बच्चों, माता-पिता, भाई-बहनों एवं परिवार के अन्य सदस्यों की सहायता से किया जाना है। तत्कम में अभिभावकों एवं समुदाय की सकिय प्रतिभागिता सुनिश्चित करने के लिये राज्य स्तर से प्रेषित साप्ताहिक गतिविधियों के कन्टेन्ट नियमित रूप से प्रेरणा साथी/ बच्चे / अभिभावकों को व्हाट्सअप आदि के माध्यम से उपलब्ध कराये जायें।

(2). प्रत्येक शनिवार को व्हाट्सएप के माध्यम से साप्ताहिक क्विज प्रतियोगिता संबंधी सामग्री प्रेषित की जायेगी। अभियान को प्रभावी बनाने के लिये प्रति सप्ताह निर्धारित गतिविधियां सम्पन्न करायी जायें, जिससे कि दिये गये सप्ताह में गतिविधियों को दोहराया जा सके और अंततः इसे समझ कर साथियों और भाई-बहनों के साथ स्वतंत्र रूप से कियान्वित करने में बच्चे सक्षम हो सकें।

(3). प्रत्येक शनिवार को व्हाट्सएप के माध्यम से साप्ताहिक क्विज प्रतियोगिता संबंधी सामग्री प्रेषित की जायेगी। रीडिंग कैम्पेन की सामग्री मोहल्ला कक्षाओं के माध्यम से बच्चों एवं अभिभावकों को साझा की जाये।

(4). प्रत्येक शनिवार को व्हाट्सएप के माध्यम से साप्ताहिक क्विज प्रतियोगिता संबंधी सामग्री प्रेषित की जायेगी। जनपद ब्लाक / पंचायत स्तर पर कार्यरत स्वयंसेवी संस्थाओं से भी अपेक्षित सहयोग लिया जा सकता है। प्रेरणा सारथी एवं प्रेरणा साथी द्वारा इस अभियान के संचालन हेतु बच्चों को घर पर ही पठन सामग्री उपलब्ध करायी जाये।

प्रेरणा साथी से सहयोग

(1). बच्चों की ऑनलाइन शिक्षा की निरन्तरता को बनाये रखने के उद्देश्य से पूर्व की भाँति प्रेरणा साथी के रूप में स्वैच्छिक सहायता देने के लिये तत्पर निकट रिश्तेदार/ पड़ोसी या स्कूल/ समुदाय के ऐसे शुभचिन्तक (उक्त प्रेरणा साथी के प्रति अभिभावकों की सहमति भी हो) की पहचान की जाये, जिनकी शिक्षा के क्षेत्र में रूचि हो तथा जिनके पास स्वयं का स्मार्टफोन एवं इन्टरनेट सुविधा उपलब्ध हो। प्रेरणा साथी से निम्नांकित बिन्दुओं के सम्बन्ध में सहयोग हेतु अनुरोध किया जाये :-

(2). प्रेरणा साथी के स्मार्टफोन में प्रेरणा लक्ष्य एप, रीड एलांग एप एवं दीक्षा एप इंस्टाल करने हेतु अनुरोध किया जाये। को राज्य स्तर से प्रेषित साप्ताहिक शैक्षणिक सामग्री अपने आस-पास/मोहल्ले के बच्चों को व्हाट्सऐप के माध्यम से साझा करने के लिये प्रेरित किया जाये।

(3). जिन अभिभावकों के पास स्मार्टफोन नहीं है, उन बच्चों को अभिभावकों की उपस्थिति में प्रेरणा साथी द्वारा प्रतिदिन कम से कम 30 मिनट तक प्रेरणा लक्ष्य ऐप, रीड एलांग एप एवं दीक्षा एप का प्रयोग करते हुए अभ्यास कार्य कराने हेतु प्रेरित किया जाये।

(4). प्रत्येक शनिवार को आयोजित होने वाली साप्ताहिक क्विज प्रतियोगिता में बच्चों को प्रतिभाग करने हेतु प्रोत्साहित किया जाये एवं मोहल्ला कक्षाओं के संचालन में भी यथाआवश्यक सहयोग प्राप्त किया जाये।

प्रेरणा साथी का पंजीकरण करने के लिए यहाँ क्लिक करें |

E PATHSHALA PHASE 6 | ई-पाठशाला फेज 6

मोहल्ला कक्षाओं का संचालन

कोविड-49 प्रोटोकाल का अनुपालन सुनिश्चित करते हुए शिक्षकों द्वारा पूर्व की भाँति मोहल्ला कक्षाओं का संचालन किया जाये। मोहल्ला कक्षाओं के प्रभावी संचालन हेतु निर्देश निम्नवत हैं :-

(1). प्रधानाध्यापक द्वारा ग्राम प्रधान, विद्यालय प्रबन्ध समिति के सदस्यों एवं अभिभावकों से अपेक्षित सहयोग प्राप्त करते हुए मोहल्ला कक्षाओं के संचालन के लिए सार्वजनिक स्थान यथा-पंचायत भवन, ग्राम सचिवालय, खेल का मैदान इत्यादि का निर्धारण किया जाये।

(2). मोहल्ला कक्षाओं के संचालन के समय बच्चों को दूर-दूर बैठाकर पठन-पाठन कराया जाये तथा राज्य स्तर से प्रेषित शैक्षणिक सामग्री बच्चों / अभिभावकों के साथ साझा की जाये।

(3). मोहल्ला कक्षाओं के संचालन में कोविड प्रोटोकाल का पूर्णतया अनुपालन (यथा-सभी बच्चे / शिक्षक मास्क लगायें, बच्चे 2 गज की दूरी पर बैठें तथा सैनीटाईजर की उपलब्धता आदि) सुनिश्चित किया जाये।

(4). बच्चों को शिक्षण योजना के अनुसार गतिविधियां करायी जायें तथा उनकी दिनचर्या से संबंधित क्रियाकलाप, विषय-वस्तु पर आधारित कार्य, अभ्यास-कार्य आदि कराये जायें तथा इसका डाक्यूमेन्टेशन भी किया जाये।

(5). विद्यालय के सभी शिक्षकों द्वारा गाँव में शिक्षण कार्य के पश्चात्‌ विद्यालय आकर प्रतिदिन के कार्यों, प्रक्रिया, समस्यायों पर चर्चा करके अगले दिन के लिए मोहल्ला कक्षाओं के संचालन के लिये कार्ययोजना बनायी जाये।

(6). विभाग द्वारा उपलब्ध कराई गई ई-लर्निंग सामग्री तथा वीडियो के साथ-साथ बच्चों की पाठ्यपुस्तकों, कार्य पुस्तिकाओं एवं लाइब्रेरी बुक्स को शिक्षण कार्य में सम्मिलित किया जाये।

(7). जिन अभिभावकों द्वारा बच्चों को मोहल्ला कक्षाओं में नहीं भेजा जा रहा है अथवा उन्हें अनियमित रूप से भेजा जा रहा है, ऐसे परिवारों को चिन्हित किया जाये तथा होम विजिद्स के माध्यम से उनकी काउन्सिलिंग करते हुए मोहल्ला कक्षाओं में बच्चों की प्रतिभागिता सुनिश्चित करायी जाये।

उपरोक्त के अतिरिक्त आदेश में सपोर्टिव सुपरविजन से सबंधित दिशानिर्देश दिए गए हैं, जिनको नीचे दिए लिंक से आदेश की मूलप्रति डाउनलोड करके विस्तृत रूप से पढ़ सकते हैं |

ई-पाठशाला (E Pathshala Phase 6) के संचालन हेतु अन्य निर्देश-

  • विद्यालय द्वारा कक्षावार सभी बच्चों के अभिभावकों का एक व्हाट्सअप ग्रुप बनाया जाये। शिक्षकों द्वारा राज्य स्तर से भेजी गयी शैक्षणिक सामग्री को उक्त व्हाट्सएप ग्रुप में साझा किया जाये |
  • शिक्षकों द्वारा भी अपनी तरफ से प्राथमिकता के आधार पर विषयगत शैक्षणिक सामग्री प्रेषित की जाये तथा बच्चों को हल करने व अभ्यास करने के लिए प्रोत्साहित किया जाये।
  • ऐसे बच्चे जिनके अभिभावक व्हाट्सएप ग्रुप से नहीं जुड़े है, उन बच्चों के परिवार में जो भी पढ़े लिखे सदस्य हों, उनको सप्ताह में एक दिन विद्यालय में आमंत्रित कर पूरे सप्ताह की कार्ययोजना से अवगत कराया जाये एवं उनके द्वारा बच्चों को घर पर पढ़ने/सीखने/समझने में उनकी मदद करने हेतु अनुरोध किया जाये।
  • प्रधानाध्यापक द्वारा विद्यालय में कार्यरत सभी शिक्षकों / शिक्षा मित्रों / अनुदेशकों के मध्य बच्चों का कक्षावार अथवा संख्यात्मक विभाजन सुनिश्चित किया जाये, जिससे कि सभी शिक्षक / शिक्षामित्रों / अनुदेशकों द्वारा बच्चों/अभिभावकों से सम्पर्क स्थापित किया जा सके।
  • अभिभावकों से सम्पर्क के दौरान बच्चों की पढ़ाई की समीक्षा, अध्ययन संबंधित समस्याओं का निराकरण एवं बच्चों को विषय से संबंधित पाठों के बारे में जानकारी प्रदान की जाये।
  • ई-पाठशाला के संचालन के माध्यम से यह सुनिश्चित किया जाये कि बच्चे पूर्व में पढ़ाये गये पाठों / करायी गयी गतिविधियों को स्मरण रखें और वर्तमान में सीखने की प्रकिया से जुड़े रहें।
  • इसलिए आवश्यक है की सिखाये गए सभी विषयों पर उनका नियमित मूल्यांकन हो। शिक्षकों एवं अभिभावकों के मध्य निरंतर सम्पर्क बना रहे।
  • बच्चों द्वारा किये गए अभ्यास कार्य को व्हाट्सएप / अभिभावकों के माध्यम से चेक किया जाये तथा गृहकार्य का मूल्यांकन कर अभिभावकों से सीखने की प्रगति को साझा किया जाये।
  • प्रेरणा पोर्टल पर भाषा एवं गणित के कार्यपत्रक भी अपलोड किये गये हैं। शिक्षकों द्वारा उक्त कार्यपत्रकों की सहायता से बच्चों से अभ्यास कार्य कराये जा सकते हैं।

 कोविड प्रोटोकॉल,/सोशल डिस्टेन्सिंग का पालन करते हुए विद्यालय में एक समय में 40 अभिभावकों से अधिक को न बुलाया जाये।

E PATHSHALA PHASE 6 | ई-पाठशाला फेज 6

Read Mission Prerna More

Spread the love